भारत

हिंदू सेना ने इस्लामिक कल्चर सेंटर के साईन बोर्ड पर ‘जिहादी आंतकवादी इस्लामिक सेंटर’ का पोस्टर लगाया, राष्ट्रीय उलमा काउंसिल ने कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े किए

मौलाना आमिर रशादी मदनी ने कहा, इस सरकार में कहीं भी मुस्लिमों को निशाना बनाया जा सकता हैं

देश की राजधानी के सबसे सुरक्षित इलाकों को भी अब कट्टरपंथियों खुलेआम अपना निशाना बना रहें हैं. जिसके कारण दिल्ली की कानून व्यवस्था एक बार फिर सवालों के घेरे में आ गई हैं।

लोधी रोड पर स्थित इस्लामिक कल्चर सेंटर कई बार से कट्टरपंथी हिंदुत्ववादी संगठनों के निशाने पर रहा हैं. हिंदुत्ववादी संगठनों के लोग खुलेआम इस्लामिक कल्चर सेंटर के साईन बोर्ड पर मुस्लिम विरोधी पोस्टर लगा जाते हैं. पुलिस की कार्यवाही न होने के कारण इन लोगों के हौसले लगातार बुलंद हो रहें हैं।

बीते दिनों भी हिंदू सेना के लोगों ने इस्लामिक कल्चर सेंटर के साईन बोर्ड पर जिहादी आंतकवादी इस्लामिक सेंटर का पोस्टर चिपका दिया।

हिंदू सेना द्वारा इस कार्य को अंजाम देने पर राष्ट्रीय उलमा काउंसिल (RUC) ने कड़ी निंदा करते हुए कहा हैं कि “देश की राजधानी दिल्ली के इस्लामिक कल्चरल सेंटर पर “जिहादी आतंकवादी” का पोस्टर चिपका कर फिर यह संदेश दिया गया है कि इस सरकार में कहीं भी किसी भी मुस्लिम संस्थान या व्यक्ति को निशाना बनाया जाएगा तो पुलिस व क़ानून सब ख़ामोश रहेगा।”

डॉक्टर शुजात अली कादरी ने घटना का फ़ोटो शेयर करते हुए लिखा कि “ये आज का फोटो है अरविंद केजरीवाल की दिल्ली का. कहां है आपके द्वारा लगाए गए स्ट्रीट कैमरे. “दिल्ली पुलिस मेरे बस में नहीं है” ये कहने से काम नहीं चलेगा।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button