Journo Mirror

Category : सम्पादकीय

सम्पादकीय

जहांगीरपूरी में पुलिस की एक तरफ़ा कार्रवाई एवं मुख्यमंत्री का बयान आपत्तिजनक – कलीमुल हफ़ीज़

journomirror
ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) ने जहांगीरपुरी में पुलीस की एकतरफा कार्यवाही पर सवाल उठाए। एआईएमआईएम दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कलीमुल हफीज़ ने कहा, जहांगीरपुरी...
सम्पादकीय

मुल्क में सरेआम संविधान की धज्जियाँ उड़ाई जा रही हैं, मन की बात करते-करते मनमानी पर उतर आए

journomirror
पाँच राज्यों में से चार में डायरेक्टली और एक में इन-डायरेक्टली जीत ने साम्प्रदायिक तत्वों के हौसले इतने बुलंद कर दिये हैं कि वो मनमानी...
सम्पादकीय

कश्मीर से लेकर दिल्ली तक शासन BJP समर्थित था इसके बावजूद कश्मीरी पंडित पलायन करने को मजबूर कैसे हो गए?

journomirror
द कश्मीर फ़ाइल्स के नाम पे बनी मूवी की आड़ में कश्मीरी मुसलमानों के ख़िलाफ़ खुलकर नफ़रत फैलाई जा रही है। जबकि विवेक अग्निहोत्री, अनुपम...
सम्पादकीय

मुसलमान एक बार फिर उन तथाकथित सेक्युलर पार्टियों की इज़्ज़त बचाने के लिए जान पर खेल गए, जो पार्टियां लगातार मुसलामानों की इज़्ज़त व आबरू से खेलती रही हैं

journomirror
डॉक्टर की एक ग़लती इंसान को मौत के मुँह में धखेल देती है, जज की एक ग़लती फाँसी के तख़्ते पर पहुँचा देती है लेकिन...
सम्पादकीय

सांप्रदायिकता बनाम डेवलपमेंट की लड़ाई में सांप्रदायिकता ही जीतेगी

journomirror
सांप्रदायिक तौर पर तैयार वोटर को पेट्रोल, डीज़ल, टमाटर से रिझाया नहीं जा सकता। बहुसंख्यक समाज ‘हिंदू-हिंदू’ रोग से पीड़ित है, उस बुख़ार को उतारकर...
सम्पादकीय

स्पेनिश कांग्रेस के सदस्य सेंटियागो अबस्कल ने कहा- यूरोप को यूक्रेन के शरणार्थियों का स्वागत करना चाहिए मुस्लिम शरणार्थियों का नहीं

journomirror
यूक्रेन और रूस के बीच चल रहा युद्ध शांत होने का नाम नहीं ले रहा हैं. युद्ध के कारण यूक्रेन के लोग अपने अपने घर...
सम्पादकीय

हिंदू काउंसिल UK के डॉयरेक्टर अनिल भनोट ने इस्लाम को बताया हिंसक धर्म, बोले- मुसलमान शैतान हैं

journomirror
हिंदू काउंसिल यूनाइटेड किंगडम (UK) के डॉयरेक्टर अनिल भनोट ने मुसलमान और इस्लाम धर्म को लेकर अभद्र टिप्पणी की हैं. जिसके बाद उनकी चारों तरफ...
सम्पादकीय

भारत के हर शहरी को अपनी पसन्द का मज़हब अपनाने, उसकी तबलीग़ करने, उसके मुताबिक़ डेमोक्रेटिक तरीक़े पर हिन्दुस्तान को बनाने की आज़ादी है

journomirror
दुनिया दारुल-अस्बाब है। यानी इस दुनिया में हर काम को करने के लिये साधन की ज़रूरत पड़ती है। यहाँ के नतीजे हमारे अमल (Activism) पर...
सम्पादकीय

मुसलमानों की जहालत और ग़रीबी की सबसे बड़ी वजह दीन का महदूद तसव्वुर है

journomirror
ये मज़मून एक हादसे कि वजह से लिखना हुआ। हुआ ये कि दिल्ली की एक झुग्गी बस्ती का रहने वाला एक मुस्लिम लड़का जिसकी उम्र...
सम्पादकीय

भारत अपने देश के करोड़ों आदिवासी, दलित, मुसलमानों और अन्य अल्पसंख्यकों को उनके जन्मस्थान, समुदाय और हैसियत के आधार पर बराबरी और इंसाफ से महरूम कर रहा है।

journomirror
2008 के अहमदाबाद ब्लास्ट मामले में कल 38 आरोपियों के साथ फांसी की सजा पाये सफदर नागौरी का 2017 में लिखा गया खुला खत पढ़...