चुनाव

मायावती ने मुख़्तार अंसारी को टिकट देने से इंकार किया, AIMIM बोली- मुख्तार अंसारी अगर चुनाव लड़ना चाहते हैं तो हमारे दरवाज़े खुले हैं

उत्तर प्रदेश में तुष्टिकरण की राजनीति शुरु हो चुकी है तमाम राजनितिक पार्टियां मुसलमानो से किनारा कर रहीं हैं तथा बहुसंख्यकों को साधने में लग गईं हैं।

तथाकथित सेकुलर पार्टियां भी अब खुलेआम मुसलामानों का नाम लेने से बच रहीं हैं तथा बहुसंख्यकों को साधने की कोशिश कर रहीं हैं।

अपने आपको दलितों और मुसलमानो की हितेषी कहने वाली बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने यूपी के कद्दावर मुस्लिम नेता मुख़्तार अंसारी को टिकट देने से इंकार कर दिया है।

वो बात अलग हैं कि मुसलमानो से दूरी बनाने वाली मायावती ब्राह्मण समाज को खुश करने के लिए पूरे उत्तर प्रदेश में ब्राह्मण सम्मेलन आयोजित करवा रहीं हैं।

मायावती द्वारा मुख़्तार अंसारी को अपनी पार्टी से टिकट देने से इंकार करने पर ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद असीम वकार ने अपनी पार्टी से टिकट देने का ऑफर दिया हैं।

सैयद असीम वकार के अनुसार “बीएसपी सुप्रीमों मायावती Use And Throw की राजनीती करती है, उन्होंने मुख़्तार अंसारी का टिकट काट कर किसी और को दे दिया है,
अगर मुख़्तार अंसारी साहब चुनाव लड़ना चाहे तो हमारे दरवाज़े उनके लिए खुले।

एआईएमआईएम के इस खुले ऑफर के बाद फ़िलहाल मुख़्तार अंसारी की तरफ से कोई जवाब नहीं आया हैं लेकिन ख़बर हैं कि मुख़्तार जल्द ही बड़ा फैसला लेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button