भारतराजनीति

ट्वीटर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 65% और अमित शाह के 56% फाॅलोवर्स फेक है: कांग्रेस

मध्य प्रदेश कांग्रेस एवं भाजपा में ट्वीटर के फेक फाॅलोवर्स को लेकर जंग तेज़ हो गई है। भाजपा द्वारा शुरू की गई लड़ाई का कांग्रेस भी उसी की भाषा में जवाब दे रही है।

मामले की शुरूआत ट्वीटर पर मध्य प्रदेश कांग्रेस के फाॅलोवर्स भाजपा से ज्यादा होने पर हुई। जिस पर भाजपा के ही नेताओं ने अपने संगठन की आईटी सेल पर सवाल उठाए।

मध्य प्रदेश भाजपा के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने जब भाजपा की आईटी सेल पर सवाल उठाए तो भाजपा आईटी सेल के हेड शिवराज डाबी ने सफाई देते हुए कहा कि ट्विटर पर कांग्रेस के 48 प्रतिशत फाॅलोवर्स फेक हैं।

जिस पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने भी तुरंत पलटवार करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश भाजपा के 3 लाख 39 हज़ार 797 फाॅलोवर्स फेक है।

फेक फाॅलोवर्स का पता लगाने के लिए कांग्रेस ने भी उसी वेबसाइट का सहारा लिया जिसका भाजपा ने लिया था।

कांग्रेस ने Sparktoro नामक वेबसाइट के जरिए पता लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के 50 फीसदी से ज्यादा फाॅलोवर्स फेक है।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्विट करते हुए कहा कि “बीजेपी प्रमाणित वेबसाइट के मुताबिक़—नरेंद्र मोदी के 65.5%, अमित शाह के 55.9%, शिवराज सिंह के 53.9% एवं मप्र बीजेपी के 339,797 फ़ॉलोवर फ़र्ज़ी हैं।

इसके बाद मध्य प्रदेश भाजपा के आईटी सेल के हेड शिवराज डाबी ने फिर से पलटवार करते हुए कहा कि “राहुल गाँधी के 59.6 फीसदी, प्रियंका गाँधी वाडरा के 51.8 फीसदी एवं कांग्रेस के 51.3 फीसदी फाॅलोवर्स फेक है।

पत्रकार कासिफ काकवी के अनुसार “ट्वीटर पर मध्य प्रदेश कांग्रेस द्वारा मध्य प्रदेश भाजपा को पछाड़ने के बाद दोनों के बीच जंग छिड़ चुकी है।भाजपा का दावा है कि कांग्रेस के 4 लाख से ज्यादा फेक फॉलोवर्स हैं, 45 हज़ार से ज्यादा ने कभी ट्वीट तक नहीं किया।

उधर कांग्रेस का कहना है कि हमसे ज्यादा फर्जी फॉलोवर्स बीजेपी के हैं। यहां तक कि PM मोदी के 65% फॉलोवर्स फेक हैं। इसी तरह अमित शाह के 56% और सीएम शिवराज के 54% फेक फॉलोवर्स हैं। कांग्रेस ने यह साबित करने के लिए उसी वेबसाइट का इस्तेमाल किया जिसका इस्तेमाल भाजपा ने कांग्रेस को एक्सपोज़ करने के लिए किया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button