भारत

2008 का पुराना वीडियो शेयर कर केरला में ‘यूनाइटेड मलप्पुरम’ नामक मुस्लिम देश की स्थापना करने का झूठा दावा किया, मोहम्मद जुबैर ने किया खुलासा

झूठा दावा किया जा रहा हैं कि केरला के 6 ज़िलों के मुस्लिमों ने मिलकर अपना एक इस्लामिक प्रधानमंत्री चुन लिया है

केरल एक बार फिर से हिंदुत्ववादियों के निशाने पर आ गया है. पुराना वीडियो शेयर करके मुसलमानों को बदनाम करने की साज़िश रची जा रही हैं।

सोशल मीडिया पर ‘हम लोग (We The People)’ नामक एक ट्वीटर अकाउंट से 2008 का विडियो शेयर करके दावा किया कि “ये है केरल के मुस्लिम ज़िले. क्या ये है भारत? उन्होंने अपना मुल्क घोषित कर दिया है. यूनाइटेड मल्लापुरम जिसमें केरल के 6 जिले शामिल हैं, ने अपना खुद का इस्लामिक पीएम चुना है, उनकी अपनी सेना है. हिन्दुओं को जगाओ।”

हालांकि ऑलट न्यूज़ के फाउंडर मोहम्मद जुबैर ने इस दावे की सच्चाई उजागर करते हुए कहा हैं कि “ये वीडियो 2008 का है. पुराना वीडियो शेयर कर केरला में ‘यूनाइटेड मलप्पुरम’ नामक मुस्लिम देश की स्थापना का झूठा दावा किया गया।

आपको बता दें कि किसी भी मीडिया संगठन ने केरला के 6 ज़िलों में ‘यूनाइटेड मलप्पुरम’ गठित होने के बारे में कोई खबर शेयर नहीं की है. अगर ये सच होता तो ये खबर सभी मीडिया आउटलेट्स ने कवर की होती।

मलयालम भाषा की इस विडियो को ऑलट न्यूज़ ने हिंदी में अनुवाद करवाया था. जिसमें पता चला कि इस विडियो में ऐसा कुछ भी नहीं हैं।

ऑलट न्यूज़ के अनुवाद के मुताबिक विडियो में कहा जा रहा हैं कि “एक गर्वशाली पार्टी कैडर होने के नाते मैं कसम खाता हूं कि मैं अपने समय और संसाधनों का इस्तेमाल मुस्लिम और अन्य पिछड़े वर्ग के लोगों को मुख्यधारा में लाने के लिए करूंगा / मैं कसम खाता हूं कि हमारे देश की एकता, अखंडता, शांति और सांप्रदायिक समानता को बरकरार रखते हुए राजनीतिक प्रगति करूंगा / मैं ये समझता हूं कि बदले, अतिवाद, आतंकवाद की राजनीति नुकसानदायक है और ये हमारे देश का सामाजिक सुख बर्बाद कर सकता है / मैं जीवन के सभी क्षेत्रों में अनेकता में एकता की सोच को कायम रखने की शपथ लेता हूं / मैं नैतिकता, पारदर्शिता, भ्रष्टाचार मुक्त राजनीतिक व्यवस्था में पुरी तरह से विश्वास रखता हूं और इससे एक कल्याणकारी राज्य का निर्माण होगा / मैं अपने देश को पूर्णतः समर्थन करता हूं और मैं अपने देश से प्यार करता हूं।”

अनुवाद से पता चलता हैं कि एक कार्यक्रम की विडियो शेयर करके तथाकथित हिंदुत्ववादी सोशल मीडिया एकाउंट के ज़रिए मुसलमानों के खिलाफ़ नफ़रत फैला रहें हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button