भारत

लखीमपुर में किसानों की हत्या के विरोध में NSUI का प्रदर्शन, नीरज कुंदन समेट सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया

कांग्रेस पार्टी की छात्र इकाई नैशनल स्टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) ने लखीमपुर खीरी में निर्दोष किसानों की हत्या के विरोध में आज बनारस में प्रदर्शन किया।

एनएसयूआई के कार्यकर्ता कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को लखीमपुर में पहुँचने से पहले हिरासत में लिए जाने का भी विरोध किया।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने प्रदर्शन कर रहें एनएसयूआई राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन, अविनाश यादव एवं अखिलेश यादव समेट 100 एनएसयूआई कार्यकर्ताओ को हिरासत में लिया।

एनएसयूआई का कहना हैं कि लखीमपुर खीरी में भाजपा के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के बेटे ने निर्दोष किसानों को अपनी कार से कुचल दिया था जिसमें कई हमारे किसान भाई मारे गए हैं।

एनएसयूआई दोषी मंत्री के बेटे और उसके अन्य साथियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग करती हैं तथा पीड़ित किसानों के परिवार को न्याय देने की मांग करती हैं।

एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन का कहना है कि “लखीमपुर खीरी में देश के अन्नदाता की दर्दनाक मौत की में कड़े शब्दों में निंदा करता हूं तथा पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। भाजपा नेता और उनके घमंडी बच्चे सत्ता के नशे में पागल हो चुके हैं, यह लोग खुलेआम आम आदमियों पर जुल्म कर रहें हैं। केंद्र सरकार ऐसे लोगों को बढ़ावा दे रहीं हैं। हमारी मांग हैं कि ऐसे लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो तथा मंत्री को भी तुरन्त बर्खास्त किया जाए।

उत्तर प्रदेश पुलिस हमको गिरफ्तार करके हमारी आवाज़ को नही दबा सकती हैं। हम किसानों को इंसाफ दिलाकर ही रहेंगे।

एनएसयूआई ने इस घटना पर ट्वीट करते हुए कहा हैं कि “लखीमपुर में भाजपा नेताओं द्वारा किये गए नरसंहार का शिकार हुए किसानों को न्याय देने की मांग व हमारी नेता श्रीमती प्रियंका गांधी की असंवैधानिक गिरफ्तारी का विरोध कर रहे NSUI राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन व अन्य कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज करने से हम डरने वाले नहीं हैं। तथा यह कायराना हरकते हमारे हौसलो को डिगा नहीं सकती हैं, किसानो को न्याय मिलने तक संघर्ष जारी रहेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button