भारत

ओखला: नूर नगर इलाके में बिल्डर्स ने मंदिर पर कब्ज़ा किया, मुसलमानो ने कोर्ट का दरवाज़ा खटखटा कर मंदिर की हिफाज़त की

राजधानी दिल्ली के मुसलमानो ने एक बार फिर हिंदू-मुस्लिम एकता की मिशाल पेश की, तथा बिल्डर्स के चंगुल से मंदिर को छुड़ाया।

ओखला के नूर नगर इलाके में कुछ बिल्डर्स मंदिर और धर्मशाला की ज़मीन पर कब्ज़ा करके उस जगह पर कॉम्पलेक्स बनाना चाहते हैं, जिसको लेकर इलाक़े के हिंदुओं में काफ़ी चिंता थी।

नूर नगर के हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं का सम्मान करते हुए तथा मंदिर की हिफाज़त के लिए इलाके के मुसलमानो और सामाजिक कार्यकर्ता फौजुल अजीम ने कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया तथा मंदिर को बिल्डर्स के चंगुल से छुड़ाया।

फौजुल अजीम का कहना हैं कि यह मंदिर लगभग 60 साल पुराना हैं, यहां पर लगभग 40-50 हिंदू परिवार रहते हैं तथा यहां के मुसलमानो ने आजतक इनको किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी। जिसके कारण आज तक यहां पर भाईचारा कायम हैं।

फौजुल अजीम का कहना हैं कि हम नही चाहते की नूर नगर के मुसलमानो पर मंदिर को तोड़ने का दाग लगे, लेकिन असामाजिक तत्व मंदिर को तोड़ना चाहते हैं इसलिए हमनें कोर्ट का रुख किया हैं।

नूर नगर के रहने वाले कुलदीप राठौर का कहना हैं कि “जो लोग मंदिर को तोड़कर कॉम्प्लेक्स बनाना चाहते हैं वह दबंग हैं इसलिए हम लोग कुछ बोल नहीं पाते थे. लेकिन फौजुल आजमी और स्थानीय मुसलमानो ने मंदिर को बचाने में हमारे बहुत मदद की है।”

आपको बता दें कि कोर्ट के आदेश पर अब दिल्ली पुलिस के जवान मंदिर की सुरक्षा में लगा दिए गए हैं, कोर्ट के इस आदेश के बाद से इलाके के हिन्दू और मुसलमानों में काफी खुशी है।

ओखला के विधायक अमानतुल्लाह खान ने भी इस मामले को लेकर थाने में शिकायत दर्ज़ कराई हैं उनका कहना है कि “हम हर धर्म का सम्मान करते हैं, किसी की धार्मिक भावनाओं को आहत करने वालों के ख़िलाफ़ आवाज़ बुलंद करते रहेंगे।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button