भारतराजनीति

उत्तर प्रदेश: AIMIM प्रवक्ता बोले,”7% और 8% वाले मुख्यमंत्री बन सकते हैं तो 20% वाले मुस्लिम क्यों नहीं बन सकते?

जबसे AIMIM ने उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले चुनाव में 100 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करने का ऐलान किया है तबसे ही उत्तर प्रदेश की राजनीति में एक नया भूचाल आ गया है। समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी पार्टियां ये इल्ज़ाम लगा रही है कि AIMIM का चुनाव लड़ने से मुस्लिम वोटों का बंटवारा होगा।

इसपर AIMIM ने भी दो टूक जवाब देते हुए कहा कि जब सारी विपक्ष की पार्टियां अलग अलग चुनाव लड़ रही है तो इससे सेक्युलर वोटों का बंटवारा नहीं होगा? जब AIMIM चुनाव लड़ने की बात करती है तो मुस्लिम वोटों का बंटवारा हो जाएगा? क्या सेकुलरिज्म को बचाने का सारा ठेका मुसलमानों ने ही उठा रखा है?

AIMIM प्रवक्ता सैय्यद आसिम वकार ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि “आप एक तीर से कई बार शिकार नहीं कर सकते, अब लोग समझदार है वो आपसे पलट कर सवाल करेंगे,
मुस्लमान अब सुरक्षा नहीं हिस्सेदारी चाहता है,
अखिलेश यादव ने 2012 में अपने घोषणा पत्र में वादा किया था मुसलमानो को आरक्षण देने का,कहा है आरक्षण ?
जवाब दे, इस बार आरक्षण देंगे या नहीं ?”
मैं AIMIM के तमाम ओहदेदारों से कहता हू की आप सभी लोग समाजवादी पार्टी के उन सभी मुसलमान नेताओ और कार्यकर्ताओ से सवाल पूछिए हर जगह हर मीटिंग में उनसे पूछिए की कहा है हमारा आरक्षण ????
कब दोगे हमारा आरक्षण ??? ”

News24 के एक लाइव डिबेट में सैय्यद आसिम वकार ने कहा कि “उत्तर प्रदेश में हमारी तादाद सबसे ज्यादा है। अगर आप देखेंगे तो हमारी परसेंटेज ज़्यादा है। और हमारे वोटों से सरकार बनती है। मैं चैलेन्ज करता हूँ समाजवादी पार्टी को की आप हमारा डिप्टी सीएम बनाएंगे की नहीं बनाएंगे और मैं मायावती जी से पूछना चाहता हूं कि मुसलमान मुख्यमंत्री क्यों नहीं होना चाहिए”

साथ ही उन्होंने अखिलेश यादव से सवाल करते हुए कहा कि “अखिलेश जी आप बताइए कि मेरी माँग ग़लत है। अभी तक आप 6%, 7%, 8% और 5% वाले मुख्यमंत्री बनते आये हैं 20% वाला मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनेगा?”

सयैद आसिम वकार ने सख़्त लहज़े में कहा कि “क्या गुनाह हमने किया कि हमें मुख्यमंत्री नहीं बनाया जा सकता? कौन सी कमी हमारे अंदर है?”

उन्होंने विपक्षी पार्टियों को चेतावनी देते हुए कहा कि “अगर आपको हुकूमत में रहना है तो आप हमारी नुमाईंदगी से इनकार नहीं कर सकते।”

इसपर समाजवादी प्रवक्ता बौखला गए और उन्होंने सय्यद आसिम वकार को समाजवादी पार्टी जॉइन करने की सलाह दे डाली और साथ में कहा कि हम आपको समाजवादी पार्टी से चुनाव भी लड़वा देंगे।

इसपर सय्यद आसिम वकार ने उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button