भारत

नए साल की शुरुआत में CAA लागू किया जा सकता हैं, आसिफ इक़बाल तन्हा बोले- अगर CAA लागू हुआ तो पहले की तरह विरोध होगा

आसिफ इक़बाल तन्हा ने कहा, CAA-NRC की लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई हैं

भारतीय जनता पार्टी (BJP) जल्द ही नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को फिर से लागू करने की तैयारी में हैं।

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी सरकार नए साल (2022) के पहले सप्ताह में CAA लागू करने की तैयारी में है।

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव को देखते हुए राष्ट्रीय स्वय सेवक संघ (आरएसएस) ने केंद्र सरकार से सीएए लागू करने की हिदायत दी हैं।

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) 2020 में ही संसद से पारित हो गया था लेकिन एक साल बाद भी यह अमल में नहीं आ सका है, क्योंकि इसके नियम अभी तक तय नहीं किये गये हैं. इसलिए बीजेपी चुनाव से पहले इसको लागू करके राजनीतिक फ़ायदा उठाना चाहती हैं।

यह ख़बर वायरल होने के बाद CAA विरोध प्रदर्शन के जानें पहचाने चेहरे आसिफ इक़बाल तन्हा ने कहा है कि “खबर सच्ची है या झूटी इस से परेशान होने की जरूरत नहीं है. बस तैयार रहें अगर CAA लागू होगा तो पहले की तरह विरोध होगा. CAA NRC की लड़ाई अभी खत्म नही हुई है।”

पश्चिम बंगाल चुनाव में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि देशभर में टीकाकरण पूरा होने के बाद सीएए लागू किया जाएगा. और अब टीकाकरण अंतिम दौर में हैं. इसलिए CAA लागू किया जा सकता हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button