भारत

देशभर से उठी AMU किशनगंज का फंड बहाल करने की मांग, शेख सादिक बोले- सीमांचल के विकास के लिए AMU की शाखा महत्वपूर्ण हैं

प्रोफ़ेसर शेख सादिक ने सरकार से अनुरोध करते हुए कहा कि एएमयू किशनगंज के लिए फण्ड जारी कर सीमांचल के लोगों के सपने को पूरा करें

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) की किशनगंज शाखा के फंड बहाली के लिए पूरे देश में उठी आवाज़. सोशल मीडिया पर लोगों ने सरकार से जल्द से जल्द फंड बहाल करने की मांग की।

ट्विटर पर एएमयू किशनगंज फंड बहाली का मुद्दा काफी देर तक नंबर वन पर भी ट्रेंडिंग करता रहा. इस अभियान को देशभर से भरपूर समर्थन प्राप्त हुआ।

आपको बता दे कि एएमयू किशनगंज के फंड के लिए यूपीए सरकार में 130 करोड़ रूपये की राशि आवंटित की गई थीं ताकि एएमयू की शाखा किशनगंज में बन पाएं और किशनगंज के बच्चे शिक्षा हासिल कर सकें।

एएमयू किशनगंज की मंजूरी यूपीए सरकार के वक्त हुई थी लेकिन आज मोदी सरकार के 7 साल होने को है, लेकिन एएमयू किशनगंज के फंड की अभी तक बहाली नही हुई है. इस मुद्दे को लेकर किशनगंज के सांसद लगातार आवाज़ बुलंद कर रहे है तथा दिल्ली से लेकर बिहार तक विरोध प्रदर्शन भी कर रहे है।

टीपू सुल्तान पार्टी ने भी एएमयू किशनगंज की फंड बहाली के लिए आवाज़ बुलंद करते हुए कहा कि “सरकार से अनुरोध है कि एएमयू किशनगंज के लिए फण्ड जारी कर सीमांचल के लोगों के सपने को पूरा करें।”

टीपू सुल्तान पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रोफ़ेसर शेख सादिक का कहना हैं कि “सीमांचल के शैक्षिक और आर्थिक विकास के लिए एएमयू किशनगंज शाखा बहुत महत्वपूर्ण है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button