भारतराजनीति

लखनऊ से ATS द्वारा उठाएं गए मुस्लिम नौजवानों के परिवार का इंटरव्यू शेयर करने पर पत्रकार ज़ाकिर अली त्यागी के खिलाफ मेरठ पुलिस ने कार्यवाही का आदेश दिया

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से ATS ने हाल ही में दो मुस्लिम नौजवानों को आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किया था जिसके बाद से पुलिस की कार्यवाही पर लगातार सवाल उठ रहे थे।

पुलिस का आरोप था कि यह दोनों अल कायदा से जुड़े हुए है तथा चुनाव से पहले धमाके करना चाहते थे। इसी मामले की जांच करने एवं सच्चाई का पता लगाने इंडिया टुडे ग्रूप की टीम ATS द्वारा पकड़े गए नौजवानों के परिवार का इंटरव्यू लेने लखनऊ गई।

लखनऊ में ATS द्वारा पकड़े गए मुस्लिम नौजवानों के परिवार से इंडिया टुडे ग्रूप की बातचीत का इंटरव्यू जब ज़ाकिर अली त्यागी ने सोशल मीडिया पर शेयर किया तो यह उनको भारी पड़ गया।

राम मिश्रा नामक ट्वीटर यूजर ने ज़ाकिर अली त्यागी के इंटरव्यू का लिंक साझा करते हुए यूपी पुलिस से अनुरोध किया कि इस वयक्ति पर कार्यवाही हो यह आतंकियों का हमदर्द है।

मेरठ पुलिस ने राम मिश्रा के अनुरोध को तुरंत स्वीकार करते हुए इस मामले को साईबर सेल मेरठ को भेज दिया तथा आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया।

पत्रकार ज़ाकिर अली त्यागी का कहना है कि “लखनऊ से एटीएस द्वारा उठाये गये परिवारों से बातचीत का इंटरव्यू मैंने सोशल मीडिया पर शेयर किया तो मेरठ पुलिस ने मुझ पर कार्रवाई हेतु साइबर सेल को आदेश जारी कर दिया है, उत्तर प्रदेश डीजीपी आप ही बताये क्या पीड़ितों का दर्द शेयर करना जुर्म है?

ज़ाकिर अली त्यागी के अनुसार “उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव,मायावती जी पूर्व डीजीपी एन सी अस्थाना और पत्रकार प्रशांत टंडन जी ने भी सवाल उठाये हैं लेकिन कार्रवाई सिर्फ उर्दू नाम वाले ज़ाकिर अली त्यागी पर होगी? मेरठ पुलिस मेरे अधिकारों को ज़िंदा रहने दो ज़िम्मेदार नागरिक की भूमिका निभाना जुर्म नही है?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button