भारत

गणतंत्र दिवस की संध्या पर यूपी-बिहार में पुलिस ने की छात्रों के साथ बर्बरता, हॉस्टल में घुसकर छात्रों की पीटा

बिहार में पुलिस ने कड़कड़ाती ठंड में छात्रों पर की पानी और आंसू गैस के गोलों की बौछार

जब से केंद्र में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनी हैं तब से छात्र वर्ग इनके निशाने पर रहा हैं. जब जब मौका मिला हैं केंद्र सरकार ने छात्रों पर जमकर जुल्म किया हैं।

भर्ती परीक्षाओं में धांधली एवं RRB-NTPC रिज़ल्ट से गुस्साए छात्र प्रदर्शन कर रहें हैं. छात्रों की मांगे नहीं माने जानें पर छात्रों ने रेलवे ट्रैक बाधित कर दिया जिसके बाद छात्र और पुलिस आमने सामने आ गए।

छात्रों पर आरोप हैं कि उन्होंने जबरन रेलवे ट्रैक बाधित करके ट्रेन के डब्बों में आग लगा दी. तथा पुलिस पर पथराव किया।

पुलिस पर आरोप हैं कि उन्होंने उत्तर प्रदेश इलाहबाद में छात्रों पर बर्बरता करते हुए जमकर लाठी बरसाई तथा छात्रों को हॉस्टल में से निकालकर पीटा।

बिहार पुलिस ने भी पटना में छात्रों पर कड़कड़ाती ठंड में पानी की बौछार तथा आंसू गैस के गोले छोड़े. तथा कुछ वीडियो में पुलिसकर्मी छात्रों पर पथराव करते हुए भी दिख रहें हैं।

उत्तर प्रदेश की घटना पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का कहना है कि “प्रयागराज में पुलिस द्वारा छात्रों के लॉज में और हॉस्टलों में जाकर तोड़-फोड़ करना एवं उनको पीटना बेहद निंदनीय है. प्रशासन इस दमनकारी कार्रवाई पर तुरंत रोक लगाए. युवाओं को रोजगार की बात कहने का पूरा हक है और मैं इस लड़ाई में पूरी तरह से उनके साथ हूं।”

प्रियंका गांधी ने आगे कहा, गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर अपने हक की बात कह रहे छात्र-छात्राओं के साथ डबल इंजन सरकार की पुलिस का व्यवहार देखिए. युवाओं के दमन के खिलाफ देश भर में इंकलाब होगा और भाजपा का अहंकार चूर-चूर होगा. युवा रोजगार का हक लेकर रहेंगे।

बिहार में पुलीस की बर्बरता की फ़ोटो शेयर करते हुए राजद नेता तेज़ प्रताप यादव ने कहा “तस्वीरें कश्मीर से नहीं, पटना (बिहार) से है. और ये आतंकवादी नहीं #RRB_NTPC के अभ्यर्थियों पर बर्बरता हो रही है. याद रहे कि बिहार में डबल इंजन वाली सरकार है और बिहार के मुखिया अपने-आप को “सुशासन बाबू” कहते फिरते हैं. आऽथू।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button