भारत

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने मुजफ्फरनगर दंगों के दौरान बेघर हुए 66 परिवारों को घर मुहैया कर इंसानियत की मिशाल पेश की

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने मुजफ्फरनगर में 2013 में हुए सांप्रदायिक दंगों के दौरान बेघर हुए 66 परिवारों को घर मुहैया कराया है।

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने एक कार्यक्रम के दौरान बगोवाली गांव में बने 66 घरों को दंगों के दौरान बेघर हुए लोगों को सौप दिया।

मौलाना मदनी ने कहा कि अब तक जमीयत उलेमा ए हिंद ने 151 परिवारों को घर मुहैया कराया है, जो दंगो के दौरान बेघर हो गए थे।

मौलाना अरशद मदनी ने दंगा पीड़ित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी की जंग में 1831 से लेकर 1947 तक मुस्लिम उलमाओ ने बहुत बड़ी कुर्बानी दी। यह हिंदुस्तान हिन्दू-मुस्लिम-सिख-ईसाई हम सबका है एवं हम सबका बराबर का हक है।

2013 में मुजफ्फरनगर के सांप्रदायिक दंगे में 60 लोगों की जान चली गई थी और 40,000 से अधिक लोग घर छोड़ने को मजबूर हो गए थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button