भारत

सुल्ली डील्स, बुल्ली बाई के बाद क्लब हाउस ऐप के ज़रिए मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ़ अभद्र यौन टिप्पणी की गई

क्लब हाउस ऐप के ज़रिए हिंदुत्ववादियों ने कहा, मुस्लिम लड़की के साथ सेक्स करने पर बाबरी मस्जिद को तोड़ने जितना पुन्य मिलता हैं

मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाना अब आम बात हो चुकी हैं, लगातार हो रहे नए नए खुलासे मुस्लिम महिलाओं के अंदर असुरक्षा की भावना उत्पन्न कर रहें हैं।

सुल्ली डील्स और बुल्ली बाई का मामला अभी ठीक ढंग से सुलझा भी नहीं था कि अब क्लब हाउस ऐप के ज़रिए कट्टरपंथी हिंदुत्ववादियों ने मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी करनी शुरु कर दी।

क्लब हाउस ऐप पर मुस्लिम महिलाओं के बारे में जो बाते कहीं जा रहीं थीं उनको खुलकर लिख पाना बहुत मुश्किल हैं. आपको बता दें कि जब हिंदुत्ववादी मुस्लिम महिलाओं के बारे गंदी गंदी बाते कर रहे थे उस वक्त वहा पर हिंदू महिलाएं भी मौजूद थीं. तथा बातचीत के दौरान जय श्रीराम के नारे भी लग रहें थे।

क्लब हाउस ऐप पर मुस्लिमों महिलाओं के बारे में हो रहीं घिनौनी बातों का विडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. जिसको जैमिन ने शेयर किया हैं।

जैमिन ने विडियो शेयर करते हुए लिखा हैं कि “ट्रिगर चेतावनी ⚠️. क्लब हाउस में हिंदुओं का एक युवा समूह चर्चा कर रहा है कि “एक मुस्लिम लड़की की योनि पर प्रहार करना 7 बाबरी मस्जिदों के विनाश के बराबर है”, “हम RSS के प्रशंसक हैं, हम मुस्लिम लड़कियों का धर्म परिवर्तन करेंगे, मुस्लिम लड़कियों की योनि हिंदुओं की तुलना में गुलाबी होती है।”

क्लब हाउस पर हो रहीं चर्चा की इसी श्रृंखला में एक ब्राह्मण लड़का कहता है कि उसके पास अपनी मां (एक मुस्लिम महिला) के लिए एक ‘ओडिपस कॉम्प्लेक्स’ है। बहुत ही मज़ेदार तरीके से, उसे अपने पिता (हिंदू पुरुष) की हत्या करने की सलाह दी जाती है ताकि वह उसकी “गुलाबी योनि” के साथ सो सके।

हालांकि sallos ने अब अपनी आईडी हटा दी है. आंचल आनंद भी इस घिनौनी बातचीत का हिस्सा थीं एक वक्ता होने के बावजूद इस हिंदू महिला ने मुस्लिम महिलाओं के खिलाफ इस जहरीली बातचीत को नहीं रोका. बल्कि इस बातचीत का हिस्सा रहीं।

इस घटना की विडियो वायरल होने के बाद महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस नोटिस इश्यू किया हैं. उनका कहना हैं कि “सुल्ली बाई, फिर बुल्ली बाई और अब क्लब्हाउस ऐप पे मुस्लिम लड़कियों के ख़िलाफ़ अभद्र यौन टिप्पणी. ऐसा कब तक चलेगा? मैंने क्लब्हाउस वाले मामले में दिल्ली पुलिस को नोटिस इशू किया है की जल्द FIR कर अपराधियों को अरेस्ट करें।”

पत्रकार शम्स तबरेज़ कासमी का कहना हैं कि “तुम लोगों की ऐसी ही घटिया सोच की वजह से लोग इस्लाम धर्म अपनाते हैं क्योंकि यहां सच्चाई है, महिलाओं का सम्मान है, उनको इज्ज़त दी जाती है. कितनी शर्मनाक बात है कि महिलाओं के बारे में घटिया बात की जाती है और यहां मौजूद महिलाएं उसको सपोर्ट करती हैं।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button