भारत

असम: पुलिस की बर्बरता के खिलाफ SIO के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मुस्लिम संगठनों के प्रीतिनिधिमंडल के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात कर न्याय की मांग की

असम में मुस्लिमों समुदाय के 800 परिवारों को उनकी ही जमीन से बेदखल करने के बाद पुलिस की बर्बरतापूर्ण कार्यवाही में 3 मुस्लिमों की मौत के बाद से पूरा देश गुस्से में हैं।

बेदखल हुए परिवारों और शहीद हुए लोगों को इंसाफ दिलाने के लिए पूरे देश से आवाज़ बुलंद हो रही हैं। तथा तमाम मुस्लिम संगठनो के प्रतिनिधियों ने असम का दौरा भी किया हैं।

स्टुडेंट इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन (SIO) के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद सलमान के नेतृत्व में तमाम मुस्लिम संगठनो ने असम के दरांग ज़िले का दौरा किया तथा दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की मांग की।

मुस्लिम संगठनों के प्रीतिनिधिमंडल में जमीअत उलमा ए हिंद, जमात ए इस्लामी, SIO समेत AIUDF पार्टी के विधायक भी मौजूद थे।

SIO के अनुसार “जमात-ए-इस्लामी हिंद और जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रतिनिधिमंडल ने असम के मुख्यमंत्री डॉ. हिमंत बिस्वा शर्मा के साथ विस्तृत बैठक की और दरांग जिले में पुलिस की बर्बरता और मुसलमानों की बेदखली का मुद्दा उठाया।”

प्रतिनिधिमंडल ने विस्थापित मुसलमानों पर हिंसा में शामिल पुलिसकर्मियों को दंडित करने और उनके द्वारा मारे गए और घायलों को मुआवजा देने की मांग दोहराई। तथा सीएम से बेदखली रोकने और प्रशासन द्वारा विस्थापित लोगों के पुनर्वास का भी आग्रह किया।

मुख्यमंत्री ने मदद का आश्वासन दिया और प्रतिनिधिमंडल को सिपाझार का दौरा करने के लिए कहा, जहां विस्थापित परिवारों को आश्रय दिया गया है, आवश्यकताओं का आकलन करें और उन्हें बताएं कि वह तत्काल क्या उपाय कर सकते हैं। उन्होंने संगठनों से राहत कार्य शुरू करने का अनुरोध किया और आवश्यक सहायता का आश्वासन दिया।

SIO का कहना है कि “मुख्यमंत्री की इजाज़त के बाद प्रतिनिधिमंडल आज घटनास्थल का दौरा करेगा और प्रभावित परिवारों से मुलाकात करेगा। इसके बाद आगे की कार्रवाई तय की जाएगी।

आपको बता दें कि मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधिमंडल ने एसपी से भी मिकलर दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की मांग थीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button