भारत

तमिलनाडु: उच्च जाति के लोगों से परेशान होकर दलित समुदाय के 40 लोगों ने इस्लाम धर्म कबूल किया

दलित समुदाय के लोगों ने आरोप लगाया कि, ऊंची जाति के हिंदू हम पर हमला करते थे तथा स्थानीय रेस्तरां एवं चाय की दुकानों से चाय पीने की अनुमति नहीं देते थे

इस्लाम शांति और भाई चारे का मज़हब हैं जहां पर सभी लोगों को एक समान समझा जाता हैं. इस्लाम की इन सब बातों से प्रेरित होकर पूरी दुनिया के लोग बहुत तेज़ी से इस्लाम धर्म कबूल कर रहें हैं।

तमिलनाडु में भी दलित समुदाय के लोगों ने उच्च जाति के हिंदुओ से परेशान होकर इस्लाम धर्म कबूल कर लिया है।

मामला दक्षिण तमिलनाडु के थेनी जिले के बोदिनायकनूर शहर के डोंबिचेरी गांव का हैं जहां पर कुछ दिन पहले 8 दलित परिवार के 40 लोगों ने हिंदू धर्म छोड़कर इस्लाम धर्म कबूल कर लिया।

इस्लाम धर्म कबूल करने वाले लोगों ने द हिंदुस्तान गजट को बताया कि “ऊंची जाति के हिंदू हमारे घरों पर लगातार हमले करते थे. दलित समुदाय से संबंधित होने के कारण हमको स्थानीय रेस्तरां और चाय की दुकानों से चाय या कॉफी पीने की अनुमति नहीं देते थे।

लोगों का आरोप है कि पुरुषों को पीटा जाता था. हमारी बेटियों को छेड़ा जाता था और सड़कों पर चलते समय उन पर भद्दे कमेंट्स और इशारे किए जाते थे।

रहीमा (32) जो पहले वीरलक्ष्मी थीं, ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि “हमें धर्मांतरण के लिए मजबूर किया गया हमें छेड़ा जा रहा था, पीटा जा रहा था, अपमानित किया जा रहा था और उस गली में नहीं चलने दिया जा रहा है जहां सवर्ण हिंदू गुजरते हैं. जिसके बाद हमने फैसला किया कि अब बहुत हो गया. अब हम मुसलमान हैं और हमें यहां कोई भेदभाव नहीं दिखता।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button