भारत

कांग्रेस पार्टी में अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं की अनदेखी से नाराज नूरी खान ने इस्तीफ़ा दिया, कमलनाथ से चर्चा के बाद इस्तीफ़ा वापस लिया

अपने लोगों को राजनैतिक और सामाजिक न्याय दिलाने में असहज महसूस कर रहीं थीं

मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी बीते इतवार हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला. कांग्रेस पार्टी की कद्दावर नेता नूरी खान ने इस्तीफ़ा देकर वापस लिया।

नूरी खान ने कांग्रेस पार्टी पर संगीन आरोप लगाते हुए इस्तीफ़ा दिया था. जिसके बाद उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से मुलाक़ात करके इस्तीफा वापस ले लिया।

नूरी खान ने कांग्रेस पार्टी पर अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं की अनदेखी करने का आरोप लगाया हैं।

नूरी खान ने इस्तीफा देते हुए कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि “कांग्रेस पार्टी के सभी पदों से इस्तीफा. कांग्रेस पार्टी में रहकर अल्पसंख्यक कार्यकर्ताओं एवं अपने लोगों को राजनैतिक एवं सामाजिक न्याय दिलाने में असहज महसूस कर रही हूँ. भेदभाव की शिकार हो रही हूँ. अतः अपने सारे पदों से आज इस्तीफ़ा दे रही हूँ।”

थोड़ी देर बाद नूरी खान ने कमलनाथ से मुलाक़ात करके इस्तीफा वापस लेने की घोषणा करते हुए कहा कि “प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ जी से चर्चा कर मैंने अपनी सारी बात पार्टी के समक्ष रखी है. 22 साल में पहली बार मैंने इस्तीफ़े की पेशकश की कही ना कही मेरे अंदर एक पीड़ा थी लेकिन कमलनाथ जी के नेतृत्व में विश्वास रख अपना इस्तीफ़ा वापस ले रही हूँ।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button